Social Media ke Patrakar

NCB ने देश को अधूरा सिखाया अप्ल्फाबेटस

2020-10-13 10:48:44 kkontu
सुशांत सिंह राजपूत की मौत की CBI जाँच के चक्कर में NCB का काम बढ़ गया । रिया से शुरू करके पूरा बॉलीवुड और पूरा मुंबई नशेडी साबित हो गया बढ़ते बढ़ते बात इतनी बढ़ी की NCB के स्पेशल औफिसर्स,सिपाही,सोर्सेस और हाथ आए अपराधी सब की फ़ौज कम पड़ गयी जो NCB बीच में जाँच बंद करके भाग खड़ी हुई । देश को बहलाने  के लिए DKRSRA और न जाने कितने नाम मुंबई के समुद्र में  डुबोकर NCB  दिल्ली जा कर किसकी गोद में सो गयी ? पर्दे के पीछे क्या हुआ है कितने सूटकेसों और थैलियों का आदान प्रदान हुआ है आखिर ठाकरे परिवार से भी बड़ा  अपराधी फस रहा हैं क्या ?आखिर राज़ क्या है पूरा देश चुप क्यूँ है ? CBI में केस जाने का मतलब क्या लिपा पोती ही रह गया है । तीन तीन बड़ी एजेंसियां अपराधियों को पकड़ने के लिए कम पड़ गयी ? हमको या पूरे देश को NCB द्वारा पढ़ाये जाने वाले बाकी के अल्फाबेटस का इंतेजार है।
Posted in: FilmiyugSocial Media ke PatrakarTagged in: aarnav goswamiCBINCBRaveesh Kumarsushant singh rajput Read more... 0 comments

खान गेंग और उनके सभी बदनाम साथी फिल्म निर्माता दिल्ली हाइ कोर्ट पहुंचे

2020-10-13 08:50:23 kkontu

रिपब्लिक टीवी और  टाइम्स नाउ जैसे चेनलों  पर रोक लगाने के लिए ये सभी सस्पेक्टस अपने आप को पाकसाफ़ दिखने के लिए इन चेनलों का मुँह बंद करने के लिए दिल्ली हाइ कोर्ट में याचिका दायर की है। याचिका में कहा गया है कि यह चेनल बॉलीवुड के लिए मेला, कूड़ा कारकट, ड्रग्स एडिक्ट  जैसे आपत्ति जन्नक शब्दो का इस्तेमाल कर रहे है । इस याचिका में रिपब्लिक टीवी के संपादक अर्णव गोस्वामी , प्रदीप भण्डारी और टाइम्स नाउ चेनल के राहुल शिव शंकर व नविका कुमार के नाम पर विशेष आरोप गड़े गए है । ये पूरी गेंग ड्रग्स केस में NCB ड्रग्स और CBI सुशांत केस में थैलियों से मुह बंद करने के पश्चात अपने दाग धोने हाइ कोर्ट गए। ये सभी विरोधियों का मुँह बंद करना चाहते है ये क्यूँ नहीं सोश्ल मीडिया पर आकर  इन आरोपों का संतुष्टि पूर्ण जबाब देते हैं ? ये ज़ोर जबरदस्ती से विरोधियों का मुँह बंद करना चाहते है जैसे इन्होने सुशांत का किया , प्रत्युषा  बनर्जी, जिया खान एवं अन्य एक्टर्स का येन केन प्रकारेंण किया है।

 

 

 

 

Posted in: Social Media ke PatrakarFilmiyugTagged in: aarnav goswamiamir khananil kapoordelhi high courtjiya khankaran joharnavika kumarpmopradeep bhandaripratyusha benarjeerahul shiv shankarsalman khansharukh khansushant singh rajputअनिल कपूरअरनाव गोस्वामीआमिर खानकारण जौहरजिया खानदिल्ली हाइ कोर्टप्रत्युषा बेनर्जीप्रदीप भण्डारीशरुख खानसालमान खानसुशांत सिघ राजपूत Read more... 0 comments

पालघर हत्याकांड : रिश्ता क्या कहलाता है?

2020-04-24 14:59:59 admin

ये रिश्ता क्या कहलाता है?
पालघर में साधुओं जी हत्या में जिन लोगो को स्थानीय पुलिस ने गिरफ्तार किया है, उनकी जमानत के प्रयास होने लगे है और यह प्रयास शिराज बलसारा कर रही है जो एक एनजीओ काश्तकारी संघटन की प्रमुख है। जिनके पति का नाम प्रदीप प्रभु है और यह एनजीओ उसी ने ही बनाई थी। नाम से हिन्दू लगता है लेकिन यह इस पूरे घटनाक्रम का महत्वपूर्ण कड़ी है क्योंकि यह कोई साधारण व्यक्ति नही है। यह प्रदीप प्रभु, पहले टाटा इंस्टीटूट ऑफ सोशल साइंस में पढ़ाता था और उसका असली नाम पीटर डेमिलो है। इसने यह प्रदीप प्रभु नाम, हिंदुओं की आंखों में धूल झोंकने के लिए रक्खा है। यह व्यक्ति कितना शक्तिशाली है यह इसी से पता चलता है कि यह, यूपीए सरकार में सोनिया गांधी की अध्यक्षता वाली नेशनल एडवाइजरी कमेटी का सदस्य था। यूपीए काल के कई कानूनों के ड्राफ्ट इसी के बनाये हुये है, आईएएस/आईएफएस के कोर्स में इसके लेक्चर्स अनिवार्य थे और साथ मे यूपीए सरकार के 10 वर्षीय कार्यकाल में यह भारत सरकार की कई समितियों का सदस्य भी था। संक्षेप में आप यह समझ सकते है कि सोनिया गांधी के शासनकाल में यह प्रदीप प्रभु उर्फ पीटर डेमिलो, एनजीओ चलाने वालो में सबसे सशक्त व्यक्ति था। आज जब पूरे भारत का हिन्दू ,पालघर में साधुओं के हत्यारों की असलियत जानने में लगा हुआ है तब उनके हत्यारों को बचाने प्रदीप प्रभु उर्फ पीटर डेमिलो की पत्नी शिराज बलसारा सामने आगयी है। यह जो दिख रहा है वह सिर्फ एक चेहरा नही है बल्कि एक पूरा तंत्र है, जो धर्मांतरण कराने वाले ईसाई गिरोह और क्रिप्टो ईसाइयों से जुड़ता हुआ सीधे दिल्ली में सोनिया गांधी तक पहुंचता है।

Posted in: National NewsSocial Media ke Patrakarपालघर मे पीढ़ित संत की अंतिम तस्वीर Read more... 0 comments

Comments are closed.