Home » madhya pradesh » जस्टिस भूषण होंगे एसआईटी अध्यक्ष

जबलपुर। व्यापमं महाघोटाले की जांच कर रही एसटीएफ की कार्यप्रणाली की निगरानी के लिए बुधवार को तीन सदस्यीय विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन हो गया। हाईकोर्ट के पूर्व जस्टिस और पूर्व उप लोकायुक्त चंद्रेश भूषण एसआईटी के अध्यक्ष होंगे, जबकि पूर्व विशेष महानिदेशक (बीएसएफ) विजय रमन और एनआईसी के पूर्व उप महानिदेशक सीएलएम रेड्डी इसके सदस्य होंगे। 

हाईकोर्ट में मुख्य न्यायाधीश एएम खानविलकर की खंडपीठ ने एसआईटी गठित करते हुए रजिस्ट्रार जनरल को निर्देश दिए कि वे टीम के उक्त सदस्यों से उनकी सहमति ले लें। कोर्ट ने रजिस्ट्रार जनरल को पूरी जानकारी इस सप्ताह के अंत तक प्राप्त कर पेश करने के निर्देश दिए। मामले की अगली सुनवाई 17 नवंबर को नियत की गई है। कोर्ट ने कहा कि चेयरमैन के अलावा अन्य दोनों सदस्य भोपाल में नहीं रहते हैं। हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को निर्देश दिए कि एसआईटी को सभी तरह की सुविधाएं और पद के अनुरूप हर सदस्य का मानदेय निर्घारित करें। 

ऎसी है टीम

रमन मप्र पुलिस केडर से भर्ती हुए और वर्ष 2011 में बीएसएफ के विशेष महानिदेशक के पद से सेवानिवृत्त हुए। रेड्डी इसके पहले कोर्ट इन्फॉर्मेटिक्स सेंटर नई दिल्ली के विभागाध्यक्ष रहे हैं। गौरतलब है कि हाईकोर्ट ने 5 नवंबर को बहुचर्चित व्यापमं फर्जीवाड़े की एसटीएफ द्वारा की जा रही जांच पर निगरानी रखने विशेष जांच दल (एसआईटी) गठित करने के आदेश दिए थे। – 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


four − = 3

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com