Home » Entertainment » निधन : मशहूर अदाकारा जोहरा सहगल नही रही अब

मशहूर अदाकार और थियेटर कलाकार जोहरा सहगल का 102 वर्ष की उम्र में गुरुवार को निधन हो गया। लगभग 72 वर्षों के अपने फिल्मी सफर में उन्होंने भारतीयों भाषाओं के साथ ही अंग्रेजी फिल्मों में भी काम किया।

जानकारी के मुताबिक सहगल का अंतिम संस्कार शुक्रवार को 11 बजे लोदी रोड स्थित Zohra Shehgalशवदाह केंद्र पर किया जाएगा। भारतीय सिनेमा की सबसे बुजुर्ग अभिनेत्री जोहरा सहगल दक्षिणी दिल्ली के मंदाकिनी इंक्लेव में अपनी बेटी किरण सहगल के साथ रह रहीं थीं। उन्हें पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था।

उन्होंने मैक्स अस्पताल में शाम करीब 4:30 बजे अंतिम सांस ली। उनकी बेटी किरण ने बताया कि दिल का दौरा पड़ने से आज उनका निधन हो गया। वह पिछले तीन-चार दिनों से अस्वस्थ चल रही थीं।

चंद वर्षों पहले ही उन्होंने अपनी उम्र को देखते हुए दिल्ली सरकार से ग्राउंड फ्लोर एक घर देने की मांग की थी। उन्होंने दर्जनों फिल्मों में शानदार भूमिका निभायी है।

जोहरा ने अपने करियर की शुरुआत एक डांसर और डांस निर्देशक के रूप में की थी। उनका जन्म 7 अप्रैल 1912 को उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में हुआ था। जोहरा को थियेटर से बेहपनाह मोहब्बत थी और थियेटर को वह अपना पहला प्यार भी मानती थीं। अभिनय की बारीकियां उन्होंने थियेटर से ही सीखीं। जोहरा ने पृथ्वीराज कपूर के पृथ्वी थियेटर में करीब 14 वर्षों तक काम किया था और उसके बाद फिल्मों की ओर रुख किया था।

उनकी प्रमुख फिल्मों में हम दिल दे चुके सनम, बेंड इट लाइक बेकहम, चीनी कम, कभी खुशी कभी गम जैसी फिल्में हैं। जोहरा को 1998 में पद्मश्री और 2010 में पद्म विभूषण से नवाजा गया था। इसके अलावा भी उन्हें कई पुरस्कार मिल चुके हैं। जोहरा की आखिरी फिल्म चीनी कम और सावरिया थी।

रात के समय मशहूर इतिहासकार इरफान हबीब ने टवीट करके जोहरा के निधन की जानकारी साझा की। उन्होंने कहा कि इसकी अभी अभी पुष्टि हुई है कि जोहरा आपा अब नहीं रहीं।

एक अन्य टवीट में उन्होंने कहा कि जोहरा सहगल के निधन के बारे में जानकर बहुत दुख हुआ। वह अपनी शर्तों पर जिंदगी जीने वाली महिला थीं। कला एवं संस्कृति के क्षेत्र को बड़ा नुकसान है।

जोहरा ने 1935 में उदय कुमार के साथ बतौर नत्यांगना करियर की शुरुआत की। वह चरित्र कलाकार के तौर पर कई हिंदी फिल्मों में नजर आईं। उन्होंने अंग्रेजी भाषा की फिल्मों, टेलीविजन और रंगमंच के जरिए भी अपने अभिनय की छाप छोड़ी।

वह आखिरी बार संजय लीला भंसाली की फिल्म सांवरिया में साल 2007 में नजर आईं। उन्हें 2010 में पदम विभूषण सम्मान से नवाजा गया था।

भारतीय सिनेमा जगत में लाडली के नाम से चर्चित जोहरा कई फिल्मों का हिस्सा रहीं। उन्होंने हम दिल दे चुके सनम दिल से और चीनी कम जैसी चर्चित फिल्मों में अभिनय किया।

वह इंडियन पीपुल्स थिएटर एसोसिएशन की सदस्य थीं और वर्ष 1946 में अपनी पहली फिल्म प्रोडक्शन धरती के लाल के जरिये रुपहले पर्दे पर पदार्पण किया। उन्होंने चेतन आनंद की फिल्म नीचा नगर में भी काम किया।

वर्ष 2012 में बेटी किरन ने जोहरा सेहगल: फैटी नाम से जोहरा की जीवनी लिखी। ओडिशी नृत्यांगना किरन ने दुख जताते हुए कहा कि अपने अंतिम दिनों में उनकी मां को सरकारी फ्लैट तक नहीं मिला, जिसकी उन्होंने मांग की थी।

उन्होंने कहा कि वह जिंदादिली और ऊर्जा से हमेशा लबालब रहती थीं। मैं अभी विचित्र मन:स्थिति में हूं, लेकिन यह ज्यादा दर्दनाक है कि उनके अंतिम दिनों में, उन्होंने एक सरकारी फ्लैट मांगा था जो उन्हें नहीं मिला।

इस बीच, जोहरा के निधन की खबर फैलने पर फिल्म जगत ने टिवटर की मदद से शोक व्यक्त किया। अभिनेता अमिताभ बच्चन ने लिखा कि जोहरा सेहगल का 102 वर्ष की उम्र में निधन हो गया़, वह कितनी प्यारी सहअभिनेत्री थीं। मैं उनकी आत्मा की शांति की कामना करता हूं।

केन्द्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने भी इस अभिनेत्री के निधन पर संवेदना व्यक्त की।

प्रगतिशील लेखक संघ के महासचिव, उर्दू के प्रसिद्ध आलोचक और दिल्ली विश्वविद्यालय के उर्दू विभाग के प्रोफेसर डॉ अली जावेद ने उनके निधन पर शोक व्यक्त किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


nine − 5 =

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com