Home » National News » रॉय की रिहाई के लिए हेज फंडों से बातचीत

मार्च से तिहाड़ जेल में बंद सहारा समूह के प्रमुख सुब्रत रॉय की रिहाई के लिए धन जुटाने की खातिर कंपनी दो अमेरिकी हेज फंडों के साथ 1 अरब डॉलर से अधिक का कर्ज लेने पर विचार कर रही है। यह जानकारी आज जारी एक मीडिया रिपोर्ट में दी गई है। संडे टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक ये दोनों हेज फंड विदेशों में सहारा समूह के तीन होटलों पर कुल 100 करोड़ डॉलर से अधिक का ऋण दे सकते हैं। इन होटल संपत्तियों में समूह का लंदन स्थित ग्रॉसवेनर हाउस होटल और न्यूयॉर्क स्थित होटल प्लाजा और ड्रीम डाउनटाउन होटल शामिल हैं।

अखबार की रिपोर्ट के अनुसार इनके लिए बातचीत कई महीनों से चल रही थी और यह सौदा पिछले सप्ताह ही होने वाला था। इस बारे में सहारा समूह के प्रवक्ता ने कहा, 'इस मामले में हम यही कह सकते हैं कि यह समाचार पूरी तरह गलत है।' प्रवक्ता ने 'बातचीत जाहिर नहीं करने के करार की शर्तों के कारण वह इस बारे में कोई टिप्पणी नहीं कर सकते हैं।' दरअसल निवेशकों के कई हजार करोड़ रुपये नहीं चुकाने के कारण भारतीय शेयर बाजार नियामक सेबी के साथ चल रहे विवाद के कारण रॉय मार्च से ही जेल में बंद है। हालांकि समूह दावा करता रहा है कि वह अपने 93 फीसदी से अधिक निवेशकों को भुगतान कर चुका है। अमेरिकी हेज फंड के एक सूत्र ने अखबार को बताया कि उनका लक्ष्य होटलों का नियंत्रण अपने हाथ में लेना है।

इस मामलें में अमेरिकी फर्मों के कंसोर्सियम के लिए परामर्शदाता का काम कानूनी फर्म ब्राउन रूडनिक ने किया तथा सामने रह कर बातचीत करने का काम प्रापर्टी डीलर जानी सैंडेलसन ने किया। रॉय ने ला फर्म मिलबैंक से परामर्श लिया।  उच्चतम न्यायालय ने इसी माह रॉय को अपनी बुआ की अंत्येष्टि में शामिल होने के लिए जेल से छुट्टी देने की अर्जी पर तत्काल सुनवाई किए जाने के आग्रह को अस्वीकार कर दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


eight + 6 =

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com