Home » madhya pradesh » सरकारी अस्पताल में गैर क़ानूनी काम

पैसा सरकार का काम घर का

सुमित कुमार चौहान

बैतुल ! सरकार गरीब, मजदूर, मजबूर, बेसहारा लोगों के लिए योजना पर योजना बनाये जा रही है, और उसे पलीता लगाने का काम पढ़ें लिखें सरकारी अस्पताल के डॉ कर रहे है ! नियम सिर्फ कहने को है, कि किसी भी मरीज को यदि निजी अस्पताल में इलाज करने के लिए बोला जाता है तो इसकी शिकायत जिला चिकित्सा अधिकारी से संपर्क करे शिकायत करे, पर क्या डॉ साहब  को नहीं दिखता कि अस्पताल के पीछे डॉ अपने निजी घर में इलाज करते है ! क्यों वो किसी डॉ के खिलाफ मामला दर्ज नहीं करते ? अधेंर नगरी चौपट राजा ये कहावत बैतुल जिलें के सरकारी अस्पताल पर फिट बैठती है, पैसा लेते है सरकार से और काम करते है घर पर बैठ कर ! ये तो कुछ भी नहीं जनाब हद तो तब हो गयी जब प्राइम सन्देश के संवादाता सुमित कुमार चौहान ने देखा कि डॉ साहब अस्पताल से मरीजो को देखने के लिए अपने निजी हाउस पर मरीजों से मिलाने वर्किंग हौर्स में घर गए ! सूत्रों कि मने तो डॉ साहब अपने घर पर मरीजों को देखते है और उनसे पैसे लेते है, जो बीमार व्यक्ति पैसे देता है उन्हें जिला चिकित्सालय में जा कर पहले उपचार किया जाता है ! इसी के साथ कुछ गंभीर मरीजों के साथ भी ऐसा ही होता जिहे जल्दी ऑपरेशन करना है तो दक्षिणा दो और जल्दी काम कराओं ! समाचार युग ने बहुत से लोगों से बाते की जिसमें उन्होंने नाम न बताने की शर्त पर बताया कि डॉ साहब को पैसे दो और काम कराओं !

14

बिस्तरों कि कमी से जूझ रहा अस्पताल

सूत्रों कि मने तो अस्पताल में एक बिस्तर पर दो दो मरीजों को लेटाया जा रहा है ! जिससे एक मरीज की बीमारी दुसरे मरीज को लग रही है, करोंड़ों रुपए खर्च करने के बाद भी सर्कार चन्द चिंदी चोरों के सथो बिक जा रही है ! बिस्तर होने के बाद भी सौदेबाजी होती है !

 

 

प्रदीप मौसेज

बैतुल जिला चिकित्सा अधिकारी

 

संवाददाता के द्वारा कॉल किया पर संपर्क नही हो पाया !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


+ 5 = thirteen

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com