Home » National News » यु पी के कई प्रमुख शेहेरो के एटीएम अज भी नहीं है नय नोट

atmप्रधानमंत्री के 500 तथा एक हजार रुपये के नोट बंद करने के फैसले के बाद से दो दिन से मची अफरातफरी आज भी जारी है। बैंकों का दावा था कि आज एटीएम से लोग पैसा निकाल सकेंगे, लेकिन एटीएम आज भी खाली है। उधर बैंकों में लंबी-लंबी कतार लगी होने के कारण लोग काफी परेशान भी हैं।

प्रदेश की राजधानी लखनऊ के साथ ही बड़े शहरों में लोग बैंकों से पैसा निकालने के लिए काफी परेशान हैं। लखनऊ के साथ ही अन्य बड़े शहरों में आज भी एटीएम में सन्नाटा है। इनमें नोट न होने के कारण यह सभी बेकार पड़े हैं। एटीएम सेवा शुरू न होने के कारण लोग काफी परेशान हैं। पीएम मोदी के 500 व 1000 के नोट बंद होने के दो दिन बाद आज से एटीएम सेवा शुरू होनी थी, लेकिन सुबह से ही जब लोग नजदीकी बैंक के एटीएम पर पहुंचे तो अधिकतर पर ताले लटक रहे थे जबकि अन्य में कैश नहीं था।

लखनऊ में ही हजार से अधिक एटीएम हैं, लेकिन आज भी आठ सौ अधिक बंद पड़े हैं। कानपुर, बरेली, वाराणसी, मेरठ और अन्य जिलों का भी यही हाल हैं। लोगों का कहना है कि हम लोग सुबह से ही एटीएम के बाहर खड़े हैं लेकिन कहीं ताला जड़ा है तो कहीं कैश ही नहीं है। लोगों का कहना है कि आज बस दो हजार ही निकल जाए तो रोजमर्रा की चीजों का जुगाड़ हो जाए।

मेरठ में रानी मील के पास के साथ ही दिल्ली रोड के अधिकांश बैंक में लगे

इलाहाबाद में आज लोग नोटों के लिए दूसरे दिन लाइन में लगे हैं। दावे के विपरीत एटीएम से ट्रांजेक्शन भी शुरू नहीं हो सका था ज्यादातर जगहों पर। रात 12 बजे के बाद एटीएम के शटर गिरे ही रहे। कचहरी रोड पर एसबीआई मुख्य शाखा में सुबह आठ बजे से लाइन लगी है। यहां पर भी अधिकांश एटीएम खाली पड़े हैं। इनमें पैसा नहीं डाला गया है। एसबीआई के साथ ही अन्य बैंकों के एटीएम भी खाली पड़े हैं। एसबीआई मेन ब्रांच के बाहर सुबह से ही लगी भारी भीड़। गोरखपुर और आसपास के जिलों में बैंक खुलने से पहले ही नोट जमा करने के साथ बदलने को लोगों की लंबी कतारें लगी हैं।

मुरादाबाद में काले धन की सफाई के फैसले ने आम आदमी को परशानी में डाल दिया। दो दिन से वह अपने घर, ऑफिस के कामकाज को छोड़कर बैंको के चक्कर काटने में लगा है। आज एटीएम में पैसे आने की सूचना थी। जिसके लिए लोग सुबह से ही एटीएम व बैंक पहुँच गए, लेकिन दस बजे तक बैंक व एटीएम नहीं खुले थे। बस्ती में नोट बदलने के लिए पंजाब नेशनल बैंक भिरिया ऋतुराज पर सुबह 8 बजे से ही ग्राहकों की लंबी लाइन लग गई है। हाथरस में भारतीय स्टेट बैंक की मुख्य शाखा व एटीएम खुलने से पहले ही लाइनें लग गई थीं। यहां पर बिजली का बिल जमा करने को बिल काउंटर्स पर लगी लोगों की भीड़। आज रात 12 बजे तक पुराने नोटों से जमा किया जा सकेगा बिल। वाराणसी में भी सुबह से ही बैंक शाखा के बाहर कतार। कानपुर व आसपास के जिलों में आज सुबह से ही बैकों तथा एटीएम के सामने कतार में लग गए लोग। शाखाओं के बाहर भीड़। अभी शाखाओं के चैनल नहीं खुले हैं। कल से ज्यादा भीड़ आज पहुंची है। वाराणसी में विभिन्न बैंक शाखाओं के बाहर सुबह से ही लंबी कतार लगी है, यहां आईसीआईसीआई बैंक की चौक शाखा का सर्वर डाउन पड़ा है। वाराणसी में नोट बदलने के लिए बैंक शाखाओं के बाहर कल से ज्यादा लोग। यहां एटीएम के शटर अभी नहीं उठे। माना जा रहा है यह दोपहर के बाद से काम करेंगे। वहीं जहां तक बैंकों से पैसे निकालने का मामला है तो कई बैंकों में कर्मचारी अभी तक नहीं पहुंचे हैं। वहां भी लम्बी कतारें देखने को मिल रही है।

लोग सरकार के इस कदम का स्वागत तो कर रहे हैं लेकिन इस दुर्व्यवस्था से उन्हें दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। बताया जा रहा है कि उत्तर प्रदेश में 2000 करोड़ रुपये के नए नोट की डिमांड रखी गई थी लेकिन महज 40 करोड़ ही पहुंचे हैं जिसकी वजह से यह समस्या आ रही है। गौरतलब है आज से लोग अधिकतम 2000 रूपए के नए नोट निकाल सकते हैं। 18 नवम्बर के बाद से यह राशि 4000 होगी।

 

बंद हैं। यहां पर लोग सुबह से ही लाइन में लगे हैं। बैंक की शाखा के बाहर भी बड़ी भीड़ है। यहां सरकारी के साथ ही प्राइवेट बैंक भी टाइम से नहीं खुले हैं। मेरठ घण्टा घर डाक घर के बाहर भी नोट बदलने व लेने वालों की भीड़ लगी है। 

 

 

 

 

आरोप, प्रत्यारोप, शिकायतें एवं समाचार कृपया इस ईमेल samacharyug@gmail.com पर भेजें। यदि आप अपना SYC-Logo-300x1301नाम गोपनीय रखना चाहते हैं तो कृपया स्पष्ट उल्लेख करें। आप हमें 8989210490 पर whatsapp भी कर सकते हैं। अपनी प्रतिक्रियाएं कृपया नीचे दर्ज करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


− eight = 0

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com