Home » Dharam » इन मंत्रों का करें जप अगर पाना चाहते है भगवान विष्णु की कृपा

अभी वैशाख माह (4 मई तक) चल रहा है और इस माह में भगवान विष्णु की पूजा का विशेष महत्व है। इन दिनों में सुबह और शाम, दोनों समय स्नान के बाद किसी मंदिर में भगवान विष्णु की मूर्ति को जल स्नान, पंचामृत (दूध, दही, शक्कर, शहद व घी) स्नान कराएं। स्नान के बाद विशेष रूप से पीले Vishnu Jiरंगे की पूजन सामग्रियां अर्पित करें।
पूजन सामग्रियों में केसरिया चंदन, पीले फूल, पीला वस्त्र, पीले फल, पीले पकवान शामिल करना चाहिए। इसके बाद चंदन धूप जलाकर भगवान विष्णु के विशेष मंत्रों का जप करना चाहिए। मंत्र जप के लिए तुलसी या चंदन की माला का उपयोग करें। मंत्र जप की संख्या कम से कम 108 होनी चाहिए। इसके बाद आरती करें।
मंत्र 1. ऊँ नमो भगवते वासुदेवाय।
मंत्र 2. ऊँ नमो नारायणाय नम:।
मंत्र 3. त्वमेव माता च पिता त्वमेव, त्वमेव बन्धुश्च सखा त्वमेव, त्वमेव विद्या, द्रविणं त्वमेव, त्वमेव सर्वं ममः देवदेवा।।
मंत्र 4. शान्ताकारं भुजगशयनं पद्मनाभं सुरेशम्। विश्वाधारं गगनसदृशं मेघवर्णं शुभाड्गंम् लक्ष्मीकातं कमलनयनं योगिभिर्ध्यानगम्यंम्र्। वन्दे विष्णु भवभयहरं सर्वलोकैक नाथम्।।
मंत्र 5. ऊँ नमो नारायणाय नम:

इन पांच मंत्रों में से किसी भी मंत्र का जप किया जा सकता है। इनके जप से भक्त की सभी मनोकामनाएं पूर्ण हो सकती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


+ 4 = twelve

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com