Home » National News » गंगा में तैरती मिलीं 104 लाशें, इलाके में हड़कंप

उत्तर प्रदेश के उन्नाव में गंगा किनारे तैरती 104 लाशें मिलीं जिससे इलाके में हडकंप मच गया। मंगलवार को मिली इसकी सूचना पाकर आईजी के अलावा कानपुर नगर और उन्नाव जिले के पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंच गए।  फिर जेसीबी से जमीन खुदवाकर शवों को दफनाया गया। 

Dead body in gangaji unnav

उधर, बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मीकांत बाजपेयी के साथ ही उन्नाव सदर के विधायक को भी जब सूचना मिली तो वे दोनों भी मौके पर पहुंच गए। बाजपेयी ने शवों को दफनाने से यह कहकर रोक दिया कि पहले इनका पोस्टमार्ट कराया जाए। वहीं, उन्नाव एसडीएम सरयू प्रसाद शुक्ला ने कहा, 'स्थानीय लोगों ने हमें परियर घाट के पास लाशें पाए जाने की सूचना दी। मामले की जांच के आदेश दे दिए गए हैं। अभी हम लाशों का अंतिम संस्कार कर रहे हैं।'

एक वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी ने बताया, 'डरने की कोई बात नहीं है। लाशें यहां आकर इसलिए अटक गईं क्योंकि यहां पानी का स्तर कम है। जेसीबी लगाकर लाशों को दफनाया जा रहा है।' दरअसल, जैसे ही लाशें मिलने की खबर मिलीं, गंगा प्रदूषण मुक्ति अभियान के राष्ट्रीय संयोजक रामजी त्रिपाठी धरने पर यह कहकर बैठ गए कि बुधवार को मकर संक्रांति से पहले इन लाशों को ठिकाने लगा दिया जाए। गौरतलब है कि मकर संक्रांति के अवसर पर श्रद्धालु गंगा समेत अन्य जलाशयों में पुण्य स्नान करते हैं।



दरअसल, कुंवारों और बच्चों के शवों को गंगा में प्रवाहित करने की परम्परा है। हर रोज पांच से छह शव गंगा में प्रवाहित किए जाते हैं। आस्था और मान्यता के कारण प्रशासनिक अधिकारी और पुलिस भी लोगों को शव प्रवाहित करने से नहीं रोकती। बिठूर घाट पर कन्नौज, बिल्हौर आदि जगहों से शव बहते हुए आ जाते हैं और ऐसा कई बार होता है। यही शव परियर गांव के पास किनारे लग जाते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


− six = 1

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com