Home » National News » कंपनियों ने 2 लाख करोड़ रुपए के निवेश की प्रतिबद्धता जताई:वाइब्रेंट गुजरात

गांधीनगर :प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा स्थिर नीति और कर प्रणाली के जरिए भारत को कारोबार करने के लिहाज से ‘सबसे आसान’ देश बनाने के वादे के बीच उद्योग समूहों अंबानी, अडाणी, बिड़ला तथा सुजुकी व रियो टिंटो जैसी दिग्गज विदेशी कंपनियों ने रविवार को लगभग दो लाख करोड़ रुपए के निवेश तथा 50,000 से अधिक नए रोजगार देने की प्रतिबद्धता जताई।

मोदी ने सभी क्षेत्रों के ‘सचमुच व्यापक’ विकास का वादा भी किया जबकि तीन दिवसीय वाइब्रेंट modi at vibrant gujarat 2015गुजरात समिट के पहले दिन उद्योगपतियों ने भारी निवेश की प्रतिबद्धता जताते हुए विभिन्न क्षेत्रों में निवेश के लिए 31 सहमति करारों (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए।

वैश्विक निवेशकों को आकर्षित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने स्थिर कर व्यवस्था तथा भरोसेमंद, पारदर्शी और निष्पक्ष नीतिगत वातावरण तैयार करने की भारत सरकार की प्रतिबद्धता जताई। उद्घाटन सत्र में अमेरिकी के विदेश मंत्री जान केरी, संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून, विश्व बैंक के अध्यक्ष जिम योंग किम और अन्य देशों के नेता तथा देश विदेश की नामी कंपनियों के शीर्ष अधिकारी मौजूद थे।

मोदी ने वाइब्रेंट गुजरात वैश्विक निवेशक सम्मेलन का उद्घाटन किया। उन्होंने कहा, ‘भारत में कारोबार करने को आसान करना आपकी मुख्य चिंता है और यह हमारी भी चिंता है। मैं आपको आश्वस्त करता हूं कि हम इन मुद्दों पर गंभीरता से काम कर रहे हैं।’ निवेशकों की लालफीताशाही सहित अन्य चिंताओं को दूर करते हुए उन्होंने कहा,‘हम इसे पहले की तुलना में या दूसरों की तुलना में आसान नहीं बल्कि सबसे आसान बनाना चाहते हैं।’ उद्घाटन सत्र में भाग लेते हुए अनेक प्रमुख उद्योगपतियों ने भारी निवेश प्रतिबद्धताओं की घोषणा की।

अरबपति उद्योगपति मुकेश अंबानी ने कहा कि रिलायंस इंडस्ट्रीज अगले 12-18 महीने में विभिन्न कारोबारों में एक लाख करोड़ रुपये का निवेश करेगी। आदित्य बिड़ला समूह के चेयरमैन कुमार मंगलम बिड़ला ने राज्य में सीमेंट और अन्य कारोबार में 20,000 करोड़ रपये के निवेश की घोषणा की है।

अडाणी समूह ने सनएडिसन के साथ भागीदारी में गुजरात में सोलर पार्क लगाने का समझौता किया है। इस परियोजना में लगभग 25000 करोड़ रुपए का निवेश होगा जबकि 20000 रोजगार सृजित होंगे। वेलस्पन रिन्यूएबल्स ने 8300 करोड़ रपये के निवेश की घोषणा की। कल्याणी ग्रुप जैसी अन्य कंपनियों ने भी निवेश प्रतिबद्धताएं जताई।

हांगकांग की चाइना लाइट एंड पावर होल्डिंग्स की गुजरात में 2000 मेगावाट की कोयला आधारित बिजली घर की योजना हैं इस परियोजना की अनुमानित लागत लगभग दो अरब डालर (12,400 करोड़ रुपए) है। गुरुवार को सुजलोन ने अगले पांच साल में गुजरात में 24000 करोड़ रुपए के निवेश की घोषणा की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


5 − = four

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com