Home » National News » ऐतिहासिक पेरिस मार्च में शामिल हुए लोग, क्रोध और दुख का सैलाब

पेरिस : आतंकवाद के खिलाफ ऐतिहासिक रूप से नाराजगी और एकजुटता दिखाने के लिए France Attacks Rallyपेरिस की सड़कों पर रविवार को भारी भीड़ जुटी और रैली के 10 लाख से अधिक लोग और दर्जनों अंतरराष्ट्रीय नेताओं के शामिल होने की संभावना है।

एकजुटता के अभूतपूर्व प्रदर्शन में, इस्राइल और फलस्तीनी प्राधिकरण के नेता तीन दिन के खूनखराबे के 17 पीड़ितों के सम्मान में आयोजित रैली में शामिल होंगे। मरने वालों में यहूदी और एक मुस्लिम पुलिस अधिकारी शामिल है।

‘सिटी आफ लाइट’ में भावनाओं का ज्वार उमड़ा और अलग अलग क्षेत्रों के कई लोगों के आंखों में आसूं झलक उठे और वे ‘‘अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता’’ के बैनर तले एकसाथ आए।

आइवरी कोस्ट की रहने वाली और फा्रंस में जन्मी 34 वर्षीय मुस्लिम महिला लासीना ट्राओर ने मृतकों को श्रद्धांजलि देते हुए ऐतिहासिक स्मारक ‘प्लेस डि ला रिपब्लिक’ के पास 17 मोमबत्ती जलाईं।

एक व्यक्ति ने कहा कि यह मार्च यह दिखाने के लिए है कि फ्रांस कितना मजबूत है।

सत्तर वर्षीय जैकलीन साद राउना ने कहा, ‘‘मैं दिखाना चाहती हूं कि हम चरमपंथियों से नहीं डरते। मैं अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की रक्षा करना चाहती हूं।’’

शार्ली हेब्दो पत्रिका और एक यहूदी बाजार पर इस्लामी हमलों से कराह रहे पेरिस में सुरक्षा बंदोबस्त कड़े कर दिये गये हैं और इस मार्च के लिए हजारों अतिरिक्त पुलिसकर्मियों और निशानेबाजों की तैनाती की गई है। इस्राइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू और फलस्तीनी राष्ट्रपति महमूद अब्बास, जार्डन के शाह तथा महारानी के अलावा जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल तथा ब्रिटिश प्रधानमंत्री डेविड कैमरन सहित अन्य शीर्ष यूरोपीय नेता इस मार्च में उपस्थित होंगे।

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा का प्रतिनिधित्व अटार्नी जनरल एरिक होल्डर करेंगे। फ्रांसीसी राष्ट्रपति फ्रांसवा ओलोंद पीड़ितों को श्रद्धांजलि का नेतृत्व करेंगे।

भाषा 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


two × = 18

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com