Home » National News » एक बार फिर बम धमाके का शिकार हुआ बेंगलुरु

बेंगलुरु के चर्च स्ट्रीट में हुए बलास्ट के बाद नाम के ट्विटर हैंडल से और बम धमाके करने की धमकी दी गई है। ट्वीट में धमकी दी गई है कि अगर मेहदी बिस्वास को नहीं छोड़ा गया तो अगले दो दिनों में और भी बम बलास्ट किए जाएंगे। गौरतलब है कि मेहदी बिस्वास को आतंकी संगठन आईएसआईएस के लिए ट्वीट करने के आरोप में अरेस्ट किया गया है। खुद को अब्दुल बताने वाले इस शख्स ने दावा किया है कि उसने ही बेंगलुरु में बम धमाके किए हैं और किसी में हिम्मत है तो उसे पकड़कर दिखाए। 



इन ट्वीट्स के जवाब में बेंगलुरु पुलिस ने तुरंत अपनी प्रतिक्रिया दी है। बेंगलुरु क्राइम ब्रांच ने ट्वीट कर कहा है, 'नाम के ट्विटर हैंडल से किए गए सभी ट्वीट पुलिस की जानकारी में हैं। उनकी जांच की जा रही है। इन ट्वीट के आधार पर अलार्म की कोई जरूरत नहीं है। कृपया अफवाहों को हवा न दें।' 

 

 

अपने प्रतिक्रिया के करीब चार घंटों के बाद ही बेंगलुरु पुलिस ने नाम के हैंडल से ट्वीट करने वाले शख्स की पहचान कर लेने का दावा किया। बेंगलुरु क्राइम ब्रांच के डीसीपी अभिषेक गोयल ने बताया, 'वह एक 17 साल का किशोर है। मानसिक रूप से तनाव में है। हम उसके माता-पिता और उससे बात कर रहे है। 



 हैंडल से लगातार एक के बाद एक ट्वीट किए गए। इनमें गृह मंत्री राजनाथ सिंह, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कई न्यूज चैनलों को धमकाया गया। एक ट्वीट हिंदी में भी किया गया था जिसमें पुलिस को गालियां दी गई थी। ट्विटर ने इस मामले में तुरंत कार्रवाई करते हुए नाम के हैंडल को साइट से हटा दिया। 



सोशल साइट पर फैली अफवाह को देखते हुए बेंगलुरु के एसीपी (लॉ-ऑर्डर) आलोक कुमार ने भी ट्वीट किया, 'बेंगलुरु शहर में स्थिति शांतिपूर्ण है। कुछ आसामाजिक तत्व अफवाह फैला रहे हैं। इन अफवाहों को हवा न दें और कुछ संदिग्ध दिखे तो पुलिस को 100 नंबर पर कॉल करें।' 



गौरतलब है कि बेंगलुरु में रविवार रात साढे आठ बजे चर्च स्ट्रीट में रेस्ट्रॉन्ट के सामने हुए ब्लास्ट में एक महिला की मौत हो गई थी और 3 घायल हैं। कम तीव्रता के इस ब्लास्ट को सरकार ने आतंकी हमला माना है। blast

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


one × 1 =

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com