Home » National News » सारधा घोटाला मामला : केंद्र से सांठगांठ में जुटीं ममता

सारधा कांड : तृणमूल नेताओं की गिरफ्तारी से घबरायीं ममता : सलीम
कोलकाता : सारधा घोटाला मामले में मदन मित्र समेत sharda ghotalaतृणमूल कांग्रेस के अन्य नेताओं की गिरफ्तारी के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी घबरा गयी हैं. अपने खेमे के नेताओं को बचाने की कोशिश में अब वह केंद्र से सांठगांठ करने में जुट गयी हैं. यह आरोप सांसद व माकपा नेता मोहम्मद सलीम ने लगाया है.
 
कथित तौर पर मदन मित्र द्वारा सारधा मामले में वाम मोरचा के नेताओं का नाम लिये जाने के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि गिरफ्तार होने की वजह से उनका मानसिक संतुलन बिगड़ गया है. उनका दावा है कि सीबीआइ हिरासत में उन्होंने कई राज उगले होंगे और महज दिखावे व मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की नजरों में बने रहने के लिए उन्होंने वामपंथी नेताओं का नाम लिया. मदन मित्र समेत तृणमूल के अन्य नेताओं की गिरफ्तारी के बाद ममता बनर्जी नेतृत्ववाली राज्य सरकार का असली चेहरा लोगों के सामने आ गया है. उन्होंने सारधा कांड के पीड़ितों के रुपये जल्द वापस किये जाने की भी मांग की. उन्होंने कहा कि चिटफंड कंपनियों के खिलाफ केंद्र सरकार विशेष कानून बनाये और सारधा कांड में तृणमूल के जिन अन्य नेताओं के नाम सामने आये हैं, उनसे भी पूछताछ हो.
राज्य में भाजपा को लाने के   पीछे तृणमूल कांग्रेस का हाथ
 
इधर, महानगर में हुई विहिप की सभा की आलोचना करते हुए माकपा नेता ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस का हाथ पकड़ कर भाजपा, विहिप व आरएसएस राज्य में प्रवेश कर चुकी हैं. वाम मोरचा सांप्रदायिकता के खिलाफ अपना विरोध जारी रखेगा.
मदन की गिरफ्तारी की जानकारी सीबीआइ ने दी थी : राज्यपाल
 
कोलकाता : सारधा घोटाला मामले में गिरफ्तार परिवहन मंत्री मदन मित्र के संबंध में राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी ने कहा कि मंत्री की गिरफ्तारी के संबंध में सीबीआइ ने उन्हें जानकारी दी थी. हालांकि यह जानकारी यहां जांच कर रहे अधिकारियों ने नहीं, बल्कि आधिकारिक रूप से सीबीआइ के केंद्रीय कार्यालय की ओर से दी गयी है. 
 
राज्यपाल ने कहा कि उन्हें पहले ही इसकी जानकारी नहीं दी गयी थी, लेकिन बाद में सीबीआइ के केंद्रीय कार्यालय ने उन्हें जानकारी दी. राज्यपाल के इस बयान ने राज्य सरकार को और आफत में डाल दिया है, क्योंकि शुक्रवार को राज्य के संसदीय मंत्री पार्थ चटर्जी के नेतृत्व में पांच मंत्रियों ने राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी से मुलाकात की थी और उनके साथ मुलाकात करने के बाद उन्होंने दावा किया था कि परिवहन मंत्री की गिरफ्तारी के बारे में सीबीआइ ने राज्यपाल को भी सूचित नहीं किया था, लेकिन परिषदीय मंत्री पार्थ चटर्जी के सभी दावे खोखले साबित हुए.
 
सुदीप्त से फिर पूछताछ करेगा इडी
 
कोलकाता. सारधा समूह प्रमुख सुदीप्त सेन से प्रवर्तन निदेशालय फिर से पूछताछ करना चाहता है. सारधा कांड में निदेशालय ने इससे पहले कई व्यक्तियों से पूछताछ की है. कई तथ्य भी उसके हाथ लगे हैं. उन तथ्यों की जांच के लिए सुदीप्त सेन से वह पूछताछ करना चाहते हैं. यह आवेदन करते हुए नगर दायरा अदालत में इडी ने याचिका दायर की. इडी के आवेदन को अदालत ने मंजूर कर लिया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


9 − one =

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com