Home » National News » आतंकवादी हमलों के बाद सुरक्षा का जायजा लेने कश्मीर पहुंचे सेनाध्यक्ष

विधानसभा चुनाव के प्रति जनता के उत्साह से बौखलाए आतंकियों ने जम्मू-कश्मीर में शुक्रवार को पूरी ताकत से आत्मघाती हमले किए। बारामूला के उरी में सेना के एक शिविर में हुए आतंकी हमले में एक लेफ्टिनेंट कर्नल समेत 11 सुरक्षाकर्मी शहीद हो गए। इस बीच सेनाध्यक्ष जनरल दलबीर सिंह सुहाग सभी शहीदों को श्रद्धांजली देंगे। सेनाध्यक्ष सुहाग श्रीनगर पहुंच गए हैं और सुरक्षा इंतजामों का जायजा लेंगे।

श्रीनगर के त्राल और शोपियां में भी आतंकियों ने हमले किए। सौरा में मुठभेड़ हुई। इन हमलों में दो नागरिकों की मौत हुई, जबकि सुरक्षा बलों की कार्रवाई में एक लश्कर कमांडर समेत आठ आतंकी मारे गए। उल्लेखनीय है कि चुनाव प्रचार के सिलसिले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आठ दिसंबर को जम्मू-कश्मीर का दौरा करेंगे।

जम्मू-कश्मीर विधानसभा के लिए नौ दिसंबर को होने वाले तीसरे चरण के मतदान से पूर्व आतंकियों ने बड़े हमले किए। शुक्रवार तड़के करीब सवा तीन बजे आतंकियों ने बारामूला स्थित मोहरा के सैन्य शिविर पर हमला करके आठ सैन्यकर्मी और तीन पुलिसकर्मियों को मार डाला। सेना की जवाबी कार्रवाई में यहां छह आतंकी मार गिराए गए। मारे गए सभी आतंकी विदेशी हैं। हमले के शिकार हुए लेफ्टिनेंट कर्नल संकल्प कुमार शुक्ला पंजाब रेजीमेंट के अधिकारी थे। शहीद हुए चार सैन्यकर्मियों के शव क्षत-विक्षत दशा में मिले हैं, उनकी जलने से मौत हुई।

आतंकी हमले के दौरान उस बैरक में आग लग गई जिसमें ये सैन्यकर्मी थे। अन्य तीन सैन्यकर्मियों की मौत गोलियां लगने से हुई। हमले का शिकार हुए तीन पुलिसकर्मियों में एक सहायक उपनिरीक्षक है। यहां पर करीब छह घंटे मुठभेड़ चली। जहां यह घटना हुई वह पाकिस्तान से लगने वाली नियंत्रण रेखा से बमुश्किल 20 किलोमीटर की दूरी पर है। सेना की वर्दी में शिविर के मुख्य द्वार पर पहुंचे आतंकी घने कोहरे के बीच आए थे जिससे संतरी को उन्हें पहचानने में कुछ वक्त लगा। संतरी को जैसे ही शक हुआ वैसे ही गोलीबारी शुरू हो गई। मारे गए आतंकियों के पास से छह असाल्ट राइफल, 55 मैगजीन, छोटे आकार की दो बंदूकें, दो नाइट विजन डिवाइस, चार रेडियो सेट और 32 ग्र्रेनेड बरामद हुए हैं। इसके अतिरिक्त शवों के पास से मेडिकल किट और अन्य आवश्यक वस्तुएं भी मिली हैं। इससे पता चलता है कि आतंकी हमले के लिए पूरी तैयारी से आए थे और उन्हें सीमापार का रणनीतिक सहयोग भी हासिल था।

एक अन्य घटनाक्रम में लश्कर ए तैयबा के कमांडर कारी इसरार को उसके साथी समेत सुरक्षा बलों ने तब मार गिराया जब वह श्रीनगर में घुसने की कोशिश कर रहा था। उसके पास से एक एके 47 राइफल मिली है। इसरार के मारे जाने के बाद उसका साथी भागकर एक घर में छिप गया लेकिन सुरक्षा बलों ने उसे घेरकर मार गिराया। यह घटना सौरा नामक स्थान की है।

दक्षिण कश्मीर के त्राल के बस स्टैंड पर आतंकियों द्वारा फेंके गए एक ग्रेनेड से दो नागरिकों- गुलाम हसन मीर और मोहम्मद शफी गुज्जर की मौत हो गई, जबकि 12 लोग घायल हो गए। इसी प्रकार से शोपियां में पुलिस मोर्चे पर भी एक ग्रेनेड फेंका गया, लेकिन उससे किसी प्रकार का नुकसान नहीं हुआ।

कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक अब्दुल गनी मीर के अनुसार कुछ आतंकियों के श्रीनगर में प्रवेश कर जाने के सुराग मिले हैं। इससे आने वाले दिनों में कुछ और आतंकी हमले झेलने पड़ सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


one × = 2

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com