Home » National News » बच्चों को पढ़ाएं महाभारत, गीता: जस्टिस दवे

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश ए.आर. दवे ने एक सेमिनार में कहा कि अगर वो तानाशाह होते तो बच्चों को Judge A R Daveपहली क्लास से महाभारत और भगवद गीता पढ़ाते। दवे ने कहा कि महाभारत और भगवद गीता से हम जीवन जीने का तरीका सीखते हैं।

 

उन्होंने कहा कि भारत को अपनी प्राचीन परंपरा और ग्रंथों की ओर लौटना चाहिए। यदि वे भारत के तानाशाह होते तो बच्चों को पहली कक्षा से ही इन्हें लागू करते। दवे ने ये भी कहा कि महाभारत और भगवद्गीता जैसे मूल ग्रंथों से बच्चों को कम उम्र में ही अवगत कराना चाहिए।

 

न्यायमूर्ति दवे 'समकालीन मुद्दों एवं वैश्वीकरण के युग में मानवाधिकारों की चुनौतियां' विषय पर आयोजित एक अंतरराष्ट्रीय विचार गोष्ठी को संबोधित कर रहे थे। न्यायमूर्ति दवे ने कहा कि गुरु-शिष्य परंपरा जैसी हमारी प्राचीन प्रथा खत्म हो चुकी है। यदि वो रहती तो देश में हिंसा और आतंकवाद जैसी समस्याएं नहीं रहतीं, लेकिन अब हम कई देशों में आतंकवाद देख रहे हैं। इस कार्यक्रम का आयोजन गुजरात ला सोसाइटी की ओर से किया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


− 2 = seven

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com