Home » State Special » पीएम बनने से रोका, पर समधी तो बनने से कैसे रोकेंगे

एसपी चीफ मुलायम सिंह यादव शुक्रवार को संसद पहुंचे तो पत्रकारों ने उनके पोते और लालू प्रसाद की बेटी की शादी की खबर पर सवाल किया। नेताजी कुछ नहीं बोले, बस मुस्करा कर रह गए। उनकी मुस्कराहट में बनते रिश्ते की चमक साफ दिख रही थी। उनके बगल में खड़े एक सीनियर जेडीयू नेता ने चुटकी ली- दो यादव मिल रहे हैं, मगर चुपके-चुपके। दरअसल खबर आई है कि मुलायम सिंह यादव के पोते तेज प्रताप औऱ लालू की बेटी राज लक्ष्मी की शादी हो सकती है। और 16 दिसंबर को इनकी हाई प्रोफाइल सगाई हो सकती है।

सियासी दुश्मनी से रिश्तेदारी का दिलचस्प सफर

लालू और मुलायम का आपसी रिश्ता कई दिलचस्प मोड़ से गुजरा है। दोनों 90 के दशक में यादवों के निर्विवाद नेता थे। मुलायम सिंह यादव यूपी तो लालू प्रसाद बिहार की राजनीति में अपना सिक्का चला रहे थे। भले दोनों अपने राज्यों में पांव जमा रहे थे लेकिन अस्थिर राजनीतिक दौर में दोनों का टारगेट नैशनल लेवल पर खुद के लिए अलग जगह बनाना था। मौका भी 1996 में आया। तब तीसरे मार्चे की सरकार बनने की पहल हुई। देवगौड़ा के हटने के बाद मुलायम सिंह यादव और ज्योति बसु प्रधानमंत्री बनने की रेस में आए। उस वक्त की सियासी कहानियों के मुताबिक, सिर्फ लालू प्रसाद के वीटो की वजह से मुलायम सिंह पीएम नहीं बन पाए। उस वक्त इंद्र कुमार गुजराल पीएम बने थे। लालू प्रसाद को यह डर सता रहा था कि अगर मुलायम सिंह यादव पीएम बन गए तो वह यादवों के सबसे बड़े नेता बन जाएंगे। यहीं से दोनों की राजनीतिक राह अलग हो गई थी। मुलायम सिंह यादव के मन में पीएम न बन पाने की टीस हमेशा रही।

जख्म भरने का वक्त

सियासी रिश्ते दुरुस्त करते हुए दोनों ने पुरानी बातों को भुलाकर नया साल,नई पार्टी की बात कही। तब इसका कतई अहसास नहीं था कि चुपके-चुपके नए रिश्ते बनाने की बात चल रही है। सूत्रों के मुताबिक, रामगोपाल यादव और एक सीनियर लेफ्ट नेता ने दोनों के बीच रिश्ते की संभावना तलाशने की बात कही। बाद में लालू की बड़ी बेटी मीसा भारती ने इसमें दिलचस्पी दिखाई और रिश्ते की बात बन गई।

खुशी की बात

रामगोपाल यादव ने कहा कि यह खुशी की बात है। राजनीति और रिश्तेदारी अलग-अलग चीजें। वहीं खुद मीडिया से बातचीत में तेजप्रताप ने कहा कि यह हमारे बाबा मुलायम सिंह का फैसला है और हमारे परिवार में बड़े ही शादी तय करते हैं।

ग्रैंड पार्टी की तैयारी

सूत्रों के मुताबिक, 16 दिसंबर को दिल्ली में सगाई हो सकती है। इसे एक बड़े पॉवर शो के रूप में भी पेश किया जा सकता है। उस दौरान संसद का सत्र चलता रहेगा ऐसे में ज्यादातर सांसद दिल्ली में ही रहेंगे।

लालू की सबसे छोटी बेटी है राजलक्ष्मी

तेज प्रताप मुलायम सिंह यादव के बड़े भाई रतन सिंह के पोते हैं। उन्होंने लंदन से एमबीए की पढ़ाई की। वह अभी पिछले दिनों मुलायम सिंह यादव की ओर से खाली की गई सीट मैनपुरी से सांसद बने हैं। वहीं लालू प्रसाद की सातवीं और सबसे छोटी बेटी है राज लक्ष्मी। लालू ने अपने सभी 7 बेटियों की शादी यादव परिवार में ही की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


5 − five =

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com