Home » National News » जशोदाबेन ने RTI से मांगी सुरक्षा और सुविधाओं की जानकारी

अहमदाबाद



गुजरात में रह रहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पत्नी जशोदाबेन ने एक आरटीआई दाखिल की है, जिसमें उन्होंने खुद को मिलने वाली सुविधाओं और सिक्यॉरिटी कवर की जानकारी मांगी है। उन्होंने लिखा है कि पूर्व पीएम इंदिरा गांधी की हत्या उनके सिक्यॉरिटी गार्ड्स ने कर दी थी, ऐसे में मुझे हर वक्त सुरक्षा को लेकर डर लगा रहता है।



मेहसाणा जिला स्थित ऊंझा के ब्राह्मणवाडा गांव में रहने वाली जशोदाबेन ने तीन पेज की आरटीआई ऐप्लिकेशन दाखिल की है। इसमें उन्होंने लिखा है, 'मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पत्नी हूं। मैं यह जानकारी चाहती हूं कि प्रोटोकॉल के तहत मुझे दूसरी और क्या सुविधाएं और सुरक्षा कवर मिल सकते हैं।' गौरतलब है कि नरेंद्र मोदी के पीएम बनने के बाद उनकी पत्नी जशोदाबेन को भी चौबीसों घंटे सुरक्षा कवर दिया गया है।

जशोदाबेन ने सोमवार को खुद मेहसाणा के एसपी से मुलाकात कर अर्जी दाखिल कीं। उनके अचानक एसपी ऑफिस पहुंच जाने से वहां खलबली मच गई। कुछ पुलिसकर्मियों के साथ उनकी बहस भी हो गई। उन्होंने 48 घंटे के अंदर उनके अंगरक्षकों के बारे में जानकारी मुहैया कराने को कहा।



मेहसाणा के एसपी जेआर मोथालिया ने इसकी पुष्टि करते हुए बताया कि जशोदाबेन ने पीएम की पत्नी के तौर पर उन्हें मिलने वाले सुरक्षा कवर की जानकारी मांगी है। उन्होंने कहा, 'सोमवार को वह हमारे ऑफिस आई थीं। उन्होंने बतौर पीएम की पत्नी मिलने वाले सुरक्षा कवर की जानकारी को लेकर आरटीआई दाखिल कीं। हम उन्हें जल्द ही इसकी जानकारी लिखित में दे देंगे।'



वहीं, मेहसाणा के स्पेशनल ऑपरेशन्स ग्रुप (SOG) के पुलिस इंस्पेक्टर जेएस चावड़ा ने बताया कि वर्तमान में जशोदाबेन की सुरक्षा में 10 पुलिसवाले लगाए हैं। वे दो शिफ्ट में काम करते हैं। हर शिफ्ट में पांच-पांच जवान तैनात रहते हैं।



अपने ऐप्लिकेशन में जशोदाबेन ने पुलिस विभाग से अपने सिक्यॉरिटी कवर के कई दस्तावेज मांगे हैं। इनमें उन्हें सुरक्षा प्रदान करने के सरकारी ऑर्डर की कॉपी भी शामिल है। उन्होंने शिकायती लहजे में लिखा है, 'मैं पब्लिक ट्रांसपोर्ट से सफर करती हूं, जबकि मेरे सिक्यॉरिटी ऑफिसर निजी वाहन से जाते हैं।'



उन्होंने लिखा है, 'पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की उनके सुरक्षाकर्मियों ने ही हत्या कर दी थी। मुझे इस समय अपने सिक्यॉरिटी कवर को लेकर भय महसूस होता है। इसलिए मुझे मेरी सिक्यॉरिटी में लगे सुरक्षाकर्मियों की पूरी जानकारी मुहैया कराई जाए।'

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


five − 1 =

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>

Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com